Home News International News

Breaking News – परमाणु मिसाइल बाबर 3 के परीक्षण का पाकिस्तान का दावा झूठा?

146
0
SHARE

बाबर 3 मिसाइल के सफल परीक्षण के पाकिस्तानी दावे पर सवाल खड़ा हो गया है। रक्षा मामलों के जानकारों की नजर में पाकिस्तान आर्मी ने मिसाइल परीक्षण का जो विडियो दुनिया के सामने पेश किया है, वह कंप्यूटर निर्मित है। विश्लेषकों का दावा है कि पाकिस्तान अभी उस काबिल ही नहीं है कि वह उस क्षमता के मिसाइल का अपने दम पर परीक्षण कर ले जिसका दावा वह बाबर 3 के लिए कर रहा है।

पाक के बूते की बात नहीं, चीन ने दिया मिसाइल?
डिफेंस एक्सपर्ट मारूफ रजा ने टाइम्स नाउ से कहा कि पाकिस्तान के पास यह क्षमता नहीं है। यह मिसाइल उसे चीन से मिला होगा। यह पूछे जाने पर कि इस विडियो पर सवाल उठाना कितना सही है, रजा ने कहा, ‘यह बिल्कुल संभव है कि पाकिस्तान ने कंप्यूटर ग्रैफिक का सहारा लिया हो।’ दरअसल, संदेह की बड़ी वजह मिसाइल के ट्रैवल टाइम को लेकर है।

पाक ने नहीं किया परीक्षण, कंप्यूटर निर्मित है विडियो: एक्सपर्ट
पठानकोट में सैटलाइट इमेजरी ऐनालिस्ट समेत कई एक्सपर्ट्स ने तकनीकी सबूत पेश करते हुए कहा कि पाकिस्तान ने मिसाइल परीक्षण का फर्जी विडियो दुनिया को दिखाया है और उसने मिसाइल लॉन्चिंग दिखाने के लिए कंप्यूटर ग्रैफिक्स का इस्तेमाल किया है। डिफेंस ऐनालिस्ट ने लगातार ट्वीट्स के जरिए दावा किया कि पाकिस्तान ने बाबर-3 का सफलतापूर्व परीक्षण दिखाने के लिए मिसाइल का कंप्यूटर निर्मित फोटो तैयार किया।

कर्नल (रिटा.) विनायक भट ने एक निजी टीवी चैनल से कहा कि पाकिस्तान आर्मी की ओर से जारी लॉन्चिंग का विडियो कंप्यूटर निर्मित जान पड़ता है। उन्होंने कहा कि विडियो में मिसाइल का रंग सफेद से बदलकर नारंगी हो जा रहा है। इतना ही नहीं, इसकी स्पीड भी इतनी ज्यादा है जो बिल्कुल संभव नहीं है।

पाकिस्तान का दावा
गौरतलब है कि भारत ने अग्नि मिसाइल की लॉन्चिंग की तो तुरंत बाद पाकिस्‍तान ने भी दावा कर दिया कि उसने पहली बार पनडुब्‍बी से क्रूज मिसाइल बाबर-3 का सफल परीक्षण किया। पाकिस्‍तान के इंटर-सर्विसेज पब्लिक रिलेशंज (ISPR) के डायरेक्टर जनरल मेजर जनरल आसिफ गफूर ने यह जानकारी ट्विटर पर दी। लेकिन, अब इस परीक्षण के विडियो पर कई तरह के संदेह पैदा होने लगे हैं।

ISPR के डीजी गफूर के मुताबिक परमाणु क्षमता से लैस बाबर-3 मिसाइल की रेंज 450 किलोमीटर है और इसे हिंद महासागर में एक गुप्त स्थान से छोड़ा गया। पाकिस्तान सेना की ओर से कहा गया है कि बाबर-3 कई तरह के उपकरण ले जाने में सक्षम है और इससे पाकिस्तान की परमाणु हमले का जवाब देने की क्षमता में इजाफा होगा।

मिसाइल टेक्नॉलजी में भारत के बढ़ते कदम
गौरतलब है कि परमाणु हथियार से लैस बलिस्टिक मिसाइल अग्नि-5 के सफल परीक्षण के बाद भारत अब मिसाइल क्षेत्र में एक और बड़ी छलांग की तैयारी में है। अग्नि-5 के बाद भारत अग्नि-6 पर भी काम कर रहा है। यह मिसाइल कई हथियार एकसाथ ले जाने में सक्षम होगा और दुश्मन के डिफेंस सिस्टम यानी MIRVs (मल्टिपल इंडिपेंडेंटली टारगेटेबल री-एंट्री वीइकल्स) को मात देने के लिए तकनीकी रूप से चालाक होगा।

loading...

Leave a Reply